The Dark Web explained to parents in Hindi

The Dark Web

The dark web is like an iceberg

There is the:

  1. an open web,
  2. a deep web and
  3. a dark web
  • The open web is for searching for everyday things like on Google.
  • The deep web is password protected and its content is not available to the public.
  • Hospital records and databases found on the deep web.
  • The deep web is also accessed by banks, governments and other organisations.
  • The dark web is the hidden part of the iceberg.
  • Journalists or human rights activists sometimes use the dark web…
  • if freedom of speech is controlled by oppressive regimes.
  • The dark web is used by criminals, predators and groomers to target victims.

Criminals carry out illegal activities online…

  • by selling weapons, drugs and more…
  • such as human trafficking or the promotion of terrorism.
  • To access the dark web, a special software called TOR is needed.
  • If your child has accessed the dark web what are the risks?
  • They are at risk of grooming, exploitation, radicalisation and sex abuse.
  • If you are worried have an honest talk.
  • Help them develop safer behaviours online.
  • Tell them you do not want your child to be exposed to criminals, predators and terrorists.

Be aware of what your children are doing online.

You can speak to:

  • www.ceop.police.uk
  • www.childnet.com
  • www.nspcc.org.uk
  • www.barnardos.org.uk

Your child’s school, college or a safeguarding lead.

डार्क वेब

डार्क वेब एक हिमशैल की तरह है|

वहाँ है;

  1. ओपन वेब,
  2. डीप वेब
  3. और डार्क वेब,
  • ओपन वेब गूगल पर रोजमर्रा की चीजों को खोजने के लिए है |
  • डीप वेब  पासवर्ड सुरक्षित है और इसकी सामग्री जनता के लिए उपलब्ध नहीं है |
  • डीप वेब  पर अस्पताल के रिकॉर्ड और डेटाबेस पाए जाते है |
  • डीप वेब को बैंकों, सरकारों और अन्य संगठनों द्वारा भी इस्तेमाल किया जाता है |
  • डार्क वेब हिमशैल का छुपा हिस्सा है |
  • पत्रकार या मानवाधिकार कार्यकर्ता कभी-कभी डार्क वेब का उपयोग करते हैं |
  • अगर बोलने की स्वतंत्रता दमनकारी शासनों द्वारा नियंत्रित होती है |
  • पीड़ितों को लक्षित करने के लिए अपराधियों, शिकारियों  और ग्रूमर्स द्वारा डार्क वेब का उपयोग किया जाता है |
  • अपराधी ऑनलाइन अवैध गतिविधियों को पूरा करते हैं |
  • हथियारों, नशे द्वारा बेचकर और बहुत कुछ….
  • जैसे कि मानव तस्करी या आतंकवाद को बढ़ावा देना |
  • डार्क वेब के इस्तेमाल के लिए,  टीओआर (TOR) नामक एक विशेष सॉफ्टवेयर की आवश्यकता  होती है |
  • अगर आपका बच्चा डार्क वेब तक पहुंचा है तो क्या जोखिम हैं?
  • वे ग्रूमिंग शोषण, कट्टरपंथीकरण और यौन शोषण  के खतरे में है |
  • यदि आप चिंतित हैं तो सच्चाई से बात करे |
  • उन्हें ऑनलाइन सुरक्षित व्यवहार विकसित करने में मदद करें |
  • उन्हें बताएं कि आप नहीं चाहते कि आपके बच्चे को अपराधियों, शिकारियों और आतंकवादियों के संपर्क में लाया जाए |
  • जागरूक रहें कि आपके बच्चे ऑनलाइन क्या कर रहे हैं |

आप बात कर सकते हैं:

  • www.ceop.police.uk
  • www.childnet.com
  • www.nspcc.org.uk

www.barnardos.org.uk

आपके बच्चे का स्कूल, कॉलेज या एक सुरक्षात्मक संचालन |

 

Share This Post:
Facebooktwitterpinterestlinkedintumblr

About the author: admin